एक थे महान ज्योतिषाचार्य वराहमिहिर

शीतांशु कुमार सहाय :वराहमिहिर का जन्म लगभग 91 विक्रम संवत पूर्व में हुआ था!इनका जन्म उज्जैन (मध्य प्रदेश) से 20 किलोमीटर दूर कायथा (कायित्थका) नामक स्थान पर हुआ था। इनके पिता का नाम आदित्य दास और माता का नाम सत्यवती था इनके माता-पिता सूर्योपासक थे! वराहमिहिर ने कायित्थका में एक गुरुकुल की स्थापना भी की थी! वराहमिहिर ने 6 ग्रन्थों की रचना की थीः 1.पञ्चसिद्धान्तिका (सिद्धान्त-ग्रन्थ) 2.बृहज्जातक (जन्मकुण्डली विषयक) 3.बृहद्यात्रा 4.योगयात्रा (राजाओं की यात्रा में शकुन) 5.विवाह पटल ( मुहूर्त-विषयक) 6.बृहत् संहिता (सिद्धान्त तथा फलित) इनमें से पञ्चसिद्धान्तिका और बृहद्…

Read More

बहुत तेज दौड़ता है इन 4 राशि के लोगों का दिमाग, जाने लें इनके बारे में

Edited By-SUMIT KUMAR अगर आपका आईक्यू लेवल और आपका इमोशनल इंटेलीजेंसी अच्छी है तो आपको इंटेलीजेंट माना जा सकता है। अगर ज्योतिष की बात करें तो कुछ राशियों के बारे में कहा जाता है कि इन राशि के लोगों का दिमाग घोड़े से भी तेज दौड़ता है। कहा जाता है कि इन राशि के लोगों में विश्लेषणात्मक और तार्किक योग्यता दोनों होते हैं। आइए जानते हैं इन राशियों के बारे में 1. मिथुन राशि: मिथुन राशि के लोग अच्चे वक्ता तो होते हैं साथ ही ये लोग बहुत बुद्धिमान भी होते…

Read More