चंपारण बिहार बेतिया 

बेतिया पश्चमी चम्पारण के नरकटियागंज में पंडई नदी, हड़बोडा नदी, चम्पारण की सभी नदियों में आया भीषण बाढ़

1986 के बाढ़ का रिकॉर्ड टूटा

शकील अहमद

बताना चाहेंगे 1986 में विशाल रूप धारण कर आय बाढ का पानी इनरवा बाजार में नहीं घुस पाया था लेकिन बीते रात 11:30 बजे से लोगों में त्राहि त्राहि मची है

वही इनरवा बाजार, खमियां गाव पूर्ण रुप से बाढ़ की चपेट है तथा इनरवा के सट्टे देसावता गांव में काफी नुकसान बताया जा रहा है तथा बाढ़ के चपेट में आने से खामियां निवासी नूरा खातून पति असलम मियां की मौत रात हो गई जब लोगों ने सुबह देखा तो दीवाल के दबी हुई महिला की लाश पड़ी हुई थी जिसे लोगों में बाढ़ को लेकर काफी भय का माहौल बना हुआ है

Print Friendly, PDF & Email

Comments

Related posts