अभिनेता कभी मरते नही है वह मंच से अंतर्ध्यान होते है : कुणाल सिकंद

पटना :- अभिनेता सह भारतीय लोकमंच पार्टी के बिहार के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कुणाल सिकंद ने  टॉम आल्टर साहब के निधन पर गहरा दुःख  जताये है। उनका जाना फ़िल्म जगत और रंगमंच के लिये बहुत बड़ी छति है। वे तीन 300 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके थे ।

वे कई टीवी शो में काम किये उन्होंने 3 किताबें भी लिखी।1976 से लेकर टॉम साहब ने कई फिल्मों और टीवी सीरियल्स में काम किया। उनकी मशहूर फिल्मों में गांधी,शतरंज के खिलाड़ी,राम तेरी गंगा मैली,आशिकी,सरदार और परिंदा हैं। जब कि क्रांति में उन्होंने जो अंग्रेज अफसर का जो रोल निभाया उसको कभी नही भुला जा सकता। उन्होंने भारत एक खोज,जबान संभाल के,बेताल पचीसी,शक्तिमान और कैप्टन व्योम जैसे टीवी शोज में भी काम किया। महेश भट्ट के सीरियल स्वाभिमान में उनके केशव कलसी के किरदार को काफी सराहा गया था। टॉम साहब लगातार नाटकों में भी काम करते रहे।2008 में भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया। टॉम साहब क्रिकेट के भी बड़े फैन थे। उन्होंने 10 साल न्यूज पेपर्स में वे क्रिकेट से जुड़े कई आर्टिकल्स भी लिखे।वे जर्नलिस्ट भी रहे 1988 में पहली बार टॉम ने ही सचिन तेंदुलकर का टीवी इंटरव्यू लिया। टॉम आल्टर साहब बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। कहाँ जाता है अभिनेता कभी मरते नही हैं वह मंच से अंतर्ध्यान होते है  बस..। ईश्वर उन्हें कठीन चरित्र निभाने किसी दूसरे जगह पर भेज देता है।

Related posts