बिहार समस्तीपुर 

समस्तीपुर/ताजपुर/मकर-संक्रांति में दूध की भारी खपत पर दुग्ध उत्पादकों की स्थिति का जायजा लिया माले ने।

सुमन मिश्रा/रविन्द्र ठाकुर

समस्तीपुर:ताजपुर में आज शनिवार कोमकरसंक्रांति में दूध की भारी खपत को देखते हुए दुग्ध उत्पादक पशुपालकों की आर्थिक स्थिति का जायजा लेने के उद्देश्य से भाकपा माले प्रखंड सचिव सह इनौस जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद सिंह, अखिल भारतीय किसान सभा के प्रखंड संयोजक ब्रहमदेव प्रसाद सिंह, खेग्रामस के प्रखंड सह संयोजक राजदेव प्रसाद सिंह ने दुग्ध सेंटर, पशुपालकों के बथान आदि जगहों पर जाकर पशुपालकों की हाल जाने की कोशिश की।इस दौरान पशुपालक दिनेश सिंह, भोला राय, सांझा देवी, रवींद्र प्रसाद सिंह, विजय कुमार आदि पशुपालकों ने बताया कि उन्हें दुग्ध की कीमत 21रु० 24 पैसा से 24 रू० 44 पैसा तक प्रति लीटर की दर से दिया जाता है जबकी डेरी पर्व- त्योहार की छुट्टी में दूध नहीं खरदती है।

    इस बाबत पूछे जाने पर डेरी से जीविका चलने के कारण सेंटर संचालक दबे जुबान से ही कुछ जानकारी दी लेकिन नजर सूची / तालिका पर जाने के बाद सबकुछ आइना की तरह साफ हो गया।

    वही दूसरी ओर डेरी द्वारा ग्राहकों से बेची जाने वाली पैक्ड दूध की कीमत 40 रू० है, इसमें भी फैट काटकर। भाकपा माले नेता सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा है कि प्राणों की आहूति देकर दूध आपूर्ति करने वाले पशुपालक को 21 रू० जबकी फैट काटकर पैकेड बनाकर बेचने वाले डेरी की कमाई 15 रू० प्रति लीटर।यह अन्याय है।भाकपा माले एवं किसान महासभा इस अन्यान्य के खिलाफ किसानों- पशुपालकों को गोलबंद कर आंदोलन चलायेगी।

 

Related posts