हजरत मोहम्मद साहब की जयंती के मौके पर निकाला गया जूलूस

31

अरविंद कुमार सिंह की एक रिपोर्ट।

मोतिहारी।

केसरिया नगर क्षेत्र सहित प्रखंड के विभिन्न मदरसे से रविवार को इस्लामिक कैलेंडर के तीसरे महीने की 12वीं तारीख को हजरत मोहम्मद साहब की जन्म दिवस के मौके पर जश्ने ईद मिलादुन्नबी का इन्काद किया गया। इस अवसर पर स्थानीय मदरसा वकीलीया समसूल उलुम,मदरसा अबू हनीफा महबुबुल उलुम प्रदूमन छपरा, मदरसा इसलामीया अंजूमन रेफाउल मुसलेमीन गोछी सहित अन्य मदरसा के विद्यार्थियों द्वारा हजरत मोहम्मद साहब के यौमे पैदाइश के मौके से बारह रबीउल अव्वल के अवर पर जूलूसे मोहम्मदी निकाला गया। यह जूलूस केसरिय नगर परिक्षेत्र का भ्रमण किया। वही सरकार की आमद मरहबा,दिलदार की आमद मरहबा, पूरनूर की आमद मरहबा, नारे तकबीर, नारे रिसालत के नारो से गूंजायमान हो उठा केसरिया। इस अवसर पर कौमी एकता फ्रंट के अध्यक्ष वशील अहमद खां ने बताया कि इस दिन मक्का शहर में 571 ईस्वी में पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब का जन्म हुआ था। इसी की याद में ईद मिलादुन्नबी का पर्व मनाया जाता है। इस साल ये दिन अंग्रजी कैलेंडर के अनुसार 10 नवंबर का है। वहीं मौलाना अनिसुर रहमान चिस्ती ने कहा कि पैगम्बरे- इस्लाम हजरत मोहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) धार्मिक सहिष्णुता के प्रतीक और सौहार्द के संदेशवाहक थे। इंसानियत के तरफदार और परस्पर प्यार के पैरोकार थे।

इसलिए आपने मोहब्बत का पैगाम दिया तथा बुग्ज (कपट) और गीबत (चुगली) से सख्त परहेज किया। हजरत मो0 मौलाना तौकिर रजा इलाहाबादी ने कहा कि मानवता की मिसाल और मोहब्बत की महक का नाम है मोहम्मद (सल्लाल्लाहु अलैहि व सल्लम)। वहीं उन्होंने कहा कि इस्लाम धर्म के आखिरी पैगम्बर हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलैहे व सल्लम है। जो पीर के दिन, सुबह सादिक के वक्त (12) बारह रबीउल अव्वल, बमुताबिक बीस (20) अप्रैल 571 ईसवी, मुल्क अरब के शहर मक्का शरीफ में पैदा हुए। इनके वालिद का नाम हजरत अब्दुल्लाह और वालिदा का नाम हजरत आमेना है और दादा का नाम अब्दुल मुत्तलिब है और नाना का नाम वहब है। आपकी जाहिरी जिंदगी (63) तिरसठ बरस की हुई।साथ ही उनके जिवनी पर प्रकाश डाला।

इस मौके पर मूस्ताक अहमद,नेजाम खां,सदाब अहमद खां,मुखिया मून्ना खां,मौलाना अब्दुल गणी,मौलाना अख्तर अली,महताब खां,मासूम रजा खां,मुन्ना आलम,अफसर खां,साहिल खां सुबोध कुमार पाठक, चून्नू सिंह,सहित सैकड़ों लोग शामिल थे ।वही प्रभारी थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर अनिल कुमार के नेतृत्व में एस आई कन्हैया सिंह,जितेंद्र सिंह, सहित शस्त्र बला सुरक्षा व्यवस्था के कमान संभाले हुए थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Farbisganj
siwan
Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More