छठ पूजा :अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने के लिये उमड़ी व्रतियों की भीड़,काँचे ही बाँस के बहगियां से गूँजता रहा कोना-कोना

बाबा बिहटेश्वरनाथ मंदिर घाट का थानाध्यक्ष ने किया उद्घाटन

43

किशोर चौहान,बिहटा(पटना)।सूर्योपासना व लोक आस्था के चार दिवसीय महापर्व के पहले अर्घ्य के दिन नदियों, सूर्य मंदिरो व अन्य पूजा स्थलों के घाटों पर व्रतियों की भीड़ उमड़ी रही।कलसुप में विभिन्न तरह फलों,ठेकुआ, कचवनिया आदि पूजा सामग्री को सजाकर तथा उसे दउरा में रखकर व्रती बंधु-बांधव के साथ पूजा स्थलों पर रवाना हुए।
छठी मईया व भगवान भास्कर के लोकगीतों केलवा जे फरेला घवध से, काँचे ही बाँस के बहगियां,व छठी मईया दीह ना आशीष आदि गीत गाते व्रती बैंड-बाजे के साथ घाटों पर पहुँचे।व्रतियों नें सोन नद व तालाबों में डुबकी लगाकर अस्ताचलगामी सूर्य को पहला अर्घ्य दिया तथा पूजा-आराधना की।गांव से लेकर शहर तक पूरा माहौल छठमय बना रहा। गलियों,पूजा स्थलों व रास्तों की साफ-सफाई कर रंग- विरंगी लाइटों से सजाया- सँवारा गया।पूजा समितियों के सदस्यों व प्रशासन के लोग व्रतियों की सुविधा व सुरक्षा में जुटे रहे।बीडीओ विभेष आंनद, सीओ सुनील कुमार वर्मा व थानाध्यक्ष अवधेश कुमार झा दल-बल के साथ घाटों पर मुआयना करते रहे।सोन नद व भीड़ वाले पूजा स्थलों पर पुलिस-प्रशासन के लोग सजग दिखे।बीडीओ ने बताया कि लोहिया स्वच्छता अभियान से जुड़े स्वच्छताग्रहियों द्वारा प्रखंड के विभिन्न घाटों,पोखरों व रास्तों की साफ- सफाई एवं व्रतियों की सुविधाओं के लिए कार्य किया गया है।अधिकांश पूजा स्थलों पर भक्तिमय सास्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।
वहीं थानाध्यक्ष ने बाबा बिहटेश्वरनाथ मंदिर घाट का उद्घाटन किया तथा उक्त स्थल पर अर्घ्य दिया।सुबह उदयीमान सूर्य को अर्घ्य देने के की तैयारी में व्रती जूट रहे।सुबह के अर्घ्य के साथ इस चार दिवसीय महापर्व का समापन होगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

siwan
Farbisganj
Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More