दरभंगा: वामपंथी आंदोलन की मजबूती समय की मांग,खेती-किसानी और रोज़ी-रोटी बचाने के लिये संघर्ष तेज़ करेगी भाकपा माले-महबूब आलम

13

 

 

 

डेस्क:  दरभंगा बाढ़ के स्थायी निदान और वैज्ञानिक जलप्रबंधन से ही होगा उत्तर-पूर्वी बिहार का समग्र विकास-धीरेंद्र.

दरभंगा:-भाकपा माले मिशन 2024 के तहत मिथिलांचल-सीमांचल में काम की विस्तृत योजना बना रही है।मज़दूर-किसानों और दलित-गरीबों के मुद्दे पर आंदोलन तेज करते हुए भाजपा को उत्तर बिहार में अपदस्थ करेगी। कुशेश्वरस्थान विधानसभा प्रचार के बाद आज दरभंगा जिला पार्टी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए भाकपा माले विधायक दल के नेता महबूब आलम ने कहा कि खेती-किसानी समेत देश की पूरी सम्पदा को मोदी सरकार अम्बानी_अडाणी के हाथों बेचने पर तुली है और देश की जनता को मंहगाई-बेकारी के भंवर में डुबो दिया है। देश में चल रहे ऐतिहासिक किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि आज देश को बचाने के लिए आज मंहगाई के खिलाफ रोज़गार आंदोलन की जरूरत है। हमारी पार्टी और सभी जनसंगठन इस अभियान में उतरेगी। आगे उन्होंने कहा कि कुशेश्वरस्थान आकर ही आप नीतीश जी के 16 वर्षों के विकास की यात्रा को समझ सकते हैं। यह सरकार पटना के 5km में सिमट गई है। आगामी विधानसभा सत्र में जूट, चीनी,कागज़,सूता मिलों की बन्दी को मजबूती से उठाया जाएगा।.

पत्रकार के सवाल के जवाब में विधायक दल के नेता महबूब आलम ने कहा कि सीएम लॉ कॉलेज जो मिथिलांचल व सीमांचल का एक मात्र स्थायित्व ग्रहण किया हुआ विधि महाविद्यालय है जिसको बंद करने का सरकार आपराधिक कोशिश कर रहा है ।माननीय हाई कोर्ट के निर्देश का सरकार पालन करे और सी एम विधि महाविद्यालय में तमाम जरूरी संसाधन की गारेंटी करे।आगामी बिहार विधानसभा सत्र में प्रमुखता से सी एम लॉ कॉलेज,दरभंगा के मुद्दे को उठाएंगे।

भाकपा माले पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेंद्र झा ने कहा कि बाढ़ के स्थायी निदान और वैज्ञानिक जल प्रबंधन के बिना उत्तर पूर्वी बिहार का विकास सम्भव नही। यहां की इस केंद्रीय समस्या के प्रति दिल्ली-पटना की सरकार उदासीन बनी हुई है, इसलिये बाढ़ और जल जमाव का दायरा लगातार बढ़ रहा है। इस सवाल पर माले अभियान तेज़ करेगी। बाढ़ प्रभावित मिथिलांचल-सीमांचल के लिये केंद्र सरकार को विशेष आवास योजना बनानी चाहिए और दलित-गरीबों को स्थायी आवासीय भूखण्ड देनी की पहल को कानूनी रूप दिया जाना चाहिए। खेग्रामस गरीब बसाओ आंदोलन तेज करेगा।.

.श्री झा ने कहा कि कुशेश्वरस्थान चुनाव प्रचार में लगे माले कार्यकर्ता को गिरफ्तार करना और झूठा मुकदमा की निंदा करते हुए उन्होंने इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। उन्होंने नीतीश सरकार से अभिलम्भ मुकदमा वापस लेने की मांग की है।.

भाकपा माले राज्य स्थायी समिति के सदस्य सह ज़िला सचिव बैद्यनाथ यादव ने कहा कि पंचायतों पर धन बल की ताकतों का बढ़ता वर्चस्व चिंता की बात है। बहादुरपुर प्रखंड सहित अन्य प्रखंडों में संघर्ष की ताकतों को जो जीत मिली है,वह उल्लेखनीय है।उन्होंने अन्य प्रखंडों में ऐसे लोगों को जिताने की अपील की।उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि क्षणिक स्वार्थ के लिये सिद्धान्तों से समझौता से वामपंथी दलों को परहेज़ करना चाहिए!

संवादददाता सम्मेलन में भाकपा(माले) राज्य कमिटी सदस्य अभिषेक कुमार, वरिष्ठ नेता लक्ष्मी पासवान शामिल थे।

 

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Add4

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Managed by Cotlas