देहरादून में पूर्व केंद्रीय मंत्री रुडी ने CISF जवानों के साथ जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर किया योगदेहरादून में पूर्व केंद्रीय मंत्री रुडी ने CISF जवानों के साथ जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर किया योग

0 2

बिहार न्यूज़ लाइव/ देश-विदेश डेस्क:

देहरादून, 21 जून, 2022। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और बिहार से सारण लोकसभा क्षेत्र के सांसद सह भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रुडी ने देहरादून में योगाभ्यास कर लोगों को निरोग रहने के लिए योग करते रहने का संदेश दिया। रुडी ने कहा कि योग अपनी जीवन शैली, शरीर एवं प्रकृति के बीच सामंजस्य बैठाने का नाम है। व्यायाम, ध्यान, ज्ञान और शरीर के जरिए मन को साधने से ही वांछित परिणाम हासिल होंगे। प्रत्येक व्यक्ति योग से जुड़ें और अपने जीवन को बेहतर बनाएं। मंगलवार को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देहरादून के जौलीग्रांट हवाई अड्डा पर केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों के साथ योगाभ्यास शिविर का आयोजन किया गया था। पतंजली के योग गुरु अनिल रावत के साथ यहां सभी ने योग की विभिन्न मुद्राओं को जाना और समझा। इस दौरान औद्योगिक सुरक्षा बल के चीफ सिक्यूरिटी अधिकारी विशाल गौतम, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के AGM नितिन कादियान, APDM देहरादून के साथ CISF के सभी अधिकारी और जवानों समेत बड़ी संख्या में महिलाओं और बच्चों ने योग की विभिन्न मुद्राओं को जाना और योगाभ्यास किया।

 

प्रकृति के सुरम्य वादियों में बसा देहरादून न केवल प्राकृतिक सौंदर्य का केंद्र है बल्कि यहां प्रदुषण मुक्त वातावरण भी है। योगाभ्यास के दौरान रुडी ने भारतीय सभ्यता की अमूल्य देन योग के संदर्भ में बताया कि भारत में वैदिक काल से मौजूद योग विद्या एक जीवन शैली है जिसे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नया मुकाम दिलाया है। उन्होंने कहा कि पहले कि सरकारें अपने ही देश की सभ्यता संस्कृति की एक तरह से दुश्मन बनी हुई थी। एक तरह से देश की सांस्कृतिक पहचान और समृद्ध परंपरा को विश्व स्तर प्रदान नहीं किया गया लेकिन, वर्ष 2014 में जब नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश की जनता ने विश्वास व्यक्त किया तब, नये भारत का निर्माण हो रहा है जिसमें नित्य नये सकारात्मक परिवर्तन नजर आ रहे है। इसी में हमारे ऋषि-महर्षियों द्वारा दिये गये बिना दवाइयों के स्वस्थ रहने का राज आज विश्व स्तर पर मान्य है। विदित हो कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने योग को अन्तरराष्ट्रीय मान्यता दिलाने के लिए सन 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रस्ताव दिया था। प्रधानमंत्री के प्रस्ताव के मात्र तीन महीने के अंदर ही संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने को मंजूरी दे दी, जिसका 177 देशों ने समर्थन किया। इसी के साथ सेहत से भरपूर भारत की प्राचीन विद्या योग को वैश्विक मान्यता मिल गई है। इस अवसर पर रूडी ने याद दिलाया कि आज ही विश्व संगीत दिवस भी है और संगीत भी भारत की ही देन है।

 

श्री रुडी ने कहा कि आज माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में हमारा देश अपनी पुरानी विश्वगुरु की छवि पाने व पुनः सोने की चिडिया बनने की तरफ अग्रसर है। इसके लिए युवाओं को देश के विकास में अपनी भागीदारी समझनी चाहिए। हमें भी अपनी आने वाली पीढ़ी को हमारी प्राचीन उन्नत परंपरा के बारे में हमारे गौरवशाली इतिहास के बारे में और हमारे ऋषि-मुनियों द्वारा प्रदत्त ज्ञान के बारे में बताना और समझाना होगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Managed by Cotlas