मुजफ्फरपुर : नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के पत्र पर पत्रकार के साथ अमानवीय व्यवहार व मारपीट मामला में सीएम एवं सचिवालय ने लिया संज्ञान, जानिए पूरा मामला…..!

53

 

मुजफ्फरपुर जिले के मोतीपुर डेन न्यूज़ संवाददाता शशि भूषण प्रसाद के साथ मोतीपुर अंचलाधिकारी मोतीपुर अरविंद कुमार अजित द्वारा अमानवीय व्यवहार एवं मारपीट किये जाने मामले में नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के द्वारा किये गए शिकायत को मुख्यमंत्री बिहार एवं मुख्यचिव बिहार सरकार ने संज्ञान लिया हैं। नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के शिकायत पर मुजफ्फरपुर डीएम को फॉरवर्ड करते हुए कारवाई करने का निर्देश दिया हैं।

बता दे कि दिनांक 4 मई 2022 को नेशनल जर्नलिस्ट एशोसिएशन के बैनर तले 15 सदस्यीय कमिटी के सदस्यों ने मुजफ्फरपुर जिलाधिकारी प्रणव कुमार से मिलकर एक ज्ञापन सौपते हुए मोतीपुर डेन न्यूज़ संवाददाता शशिभूषण प्रसाद के साथ अमानवीय व्यवहार एवं मारपीट करने वाले मोतीपुर अंचलाधिकारी अरविंद कुमार अजित के ऊपर कारवाई करने की मांग किया था। उसकी कॉपी मुख्यचिव बिहार सरकार एवं मुख्यमंत्री बिहार को भेजते हुए कारवाई करने की मांग किया था। जिस आलोक में सरकार ने मामले को संज्ञान लिया हैं। ऐसे में देखना बहुत लाजमी बनता है कि पूरे प्रकरण में जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर कबतक कारवाई करते हैं।

जानकारी हो कि दिनांक― 27 अप्रैल 2022 को भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग के अपर मुख्य सचिव ब्रजेश मनहोत्रा के निर्देशानुसार एडीएम आपदा मुजफ्फरपुर डॉ. अजय कुमार मोतीपुर अंचल कार्यालय का निरीक्षण एवं जांच करने पहुचें थे। जहां सेनुआरीगंज सिह गांव निवासी फरियादी विनोद राय अपना फरियाद एडीएम को सुना रहे थे कि अंचलाधिकारी मोतीपुर आग बबूला हो गए। सीओ ने फरियादी को बाहर लाकर गाली गलौज करते हुए मारपीट कर रहे थे कि समाज के सजग प्रहरी होने के नाते डेन न्यूज़ के मोतीपुर पत्रकार शशिभूषण प्रसाद पूरे घटनाक्रम की तस्वीर को अपने कैमरे में कैद करने पहुचें। जहां समाचार संकलन करते देख अंचलाधिकारी मोतीपुर अरविंद अजित पत्रकार शशिभूषण प्रसाद पर टूट पड़े। वे पत्रकार के साथ हथापाही करते हुए मारपीट किये एवं पद का दुरुपयोग करते हुए एक तो गलती किये उपर से पुलिस बुलवाकर झूठा केस में फसाकर जेल भेजवाने की धमकी भी दिए थे।

जिस आलोक में नेशनल जर्नलिस्ट एशोसिएशन के बैनरतले 15 सदस्यीय कमिटी के सदस्यों ने मुजफ्फरपुर जिलाधिकारी को भी ज्ञापन देकर कारवाई की मांग किया था। जिलाधिकारी को ज्ञापन देने के बाद मोतीपुर में सरगर्मी तेज हो गई हैं। ऐसे में अब देखना बहुत लाजमी होगा कि डीएम मुजफ्फरपुर कबतक कारवाई कर पाते हैं।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Managed by Cotlas