पटना: नगर निगम के सफाईकर्मियों के लिए बड़ी खुशखबरी (पटना नगर निगम) के 4300 कर्मियों के वेतन को बढ़ाने का फैसला लिया गया।

पटना: नगर निगम के सफाईकर्मियों के लिए बड़ी खुशखबरी (पटना नगर निगम) के 4300 कर्मियों के वेतन को बढ़ाने का फैसला लिया गया।

194

बिहार न्यूज़ लाइव:-

पटना नगर निगम के सफाईकर्मियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. (पटना नगर निगम) के 4300 कर्मियों के वेतन को बढ़ाने का फैसला लिया गया है. पटना की( महापौर श्रीमती सीता साहू )की अध्यक्षता में विशेष बैठक बुलाई गई, जिसमें नगर आयुक्त के साथ सशक्त स्थायी समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर सफाईकर्मियों के वेतन बढ़ाने का फैसला हुआ. बैठक में यह फैसला लिया गया कि सफाईकर्मियों की मांग पर वेतन वृद्धि की जा रही है इसके लिए महापौर की अध्यक्षता में कर्मचारी यूनियन के मनोनीत सदस्य एवं नगर निगम पदाधिकारी एवं स्थाई समिति के सदस्यों के साथ कमिटी का निर्माण किया जाएगा.

कमिटी द्वारा 15 दिनों के अंदर प्रस्ताव दिया जाएगा. कमिटी के रिपोर्ट के आधार पर अंतिम निर्णय होगा. इस कमिटी में महापौर, नगर आयुक्त, उप नगर आयुक्त राकेश कुमार झा, सशक्त स्थायी समिति के सदस्य और पटना नगर निगम संयुक्त कर्मचारी समन्वय समिति के अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश सिंह को शामिल किया गया है. चन्द्रप्रकाश सिंह ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि खुशी है कि कर्मचारियों की मांगे मानी गई.

दरअसल पिछले कई महीनों से कर्मचारी संगठनों ने वेतन वृद्धि को लेकर कई बार हड़ताल किया और लगातार मांग उठाते रहे है. हड़ताल के दौरान का भी नहीं कटेगा वेतन, मेयर की अध्यक्षता में हुए विशेष बैठक में फैसला लिया गया कि हड़ताल अवधि के दौरान कर्मचारियों का वेतन भी दिया जाएगा. जितने दिन हड़ताल चला उस अवधि को उपार्जित अवकाश में समायोजित किया जाएगा. नगर निगम के कर्मचारियों को इस खत्म होते साल में यह बड़ा तोहफा माना जा रहा है.

10 हजार से अधिक मानदेय है पटना नगर निगम में

पटना नगर निगम में फिलहाल दैनिक कर्मियों का मानदेय 10 हजार रुपये से अधिक है जो बिहार के किसी भी नगर निगम से ज्यादा है।आने वाले दिनों में वेतन वृद्धि होने पर यह रकम और बढ़ेगी जिससे सफाईकर्मियों को राहत मिल सकेगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Add4

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Managed by Cotlas