कोविड-19 के संदिग्ध या संक्रमित गर्भवती महिलाओं को लिए बनाया गया विशेष वार्ड

प्रसव के लिए आने वाली महिलाओं को किया जायेगा भर्ती

0 6

कोरोना संकटकाल के बीच मातृत्व स्वास्थ्य सेवाओं को व्यवस्थित एवं सुदृढ करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से तमाम प्रयास किये जा रहें है। इसी कड़ी में छपरा सदर अस्पताल में कोविड-19 से संक्रमित या संदिग्ध गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष प्रसव वार्ड का निर्माण किया गया है। ताकि प्रत्येक माता व शिशु को सुरक्षित किया जा सके। विशेष वार्ड का संचालन शुरू कर दिया गया है। सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ही विशेष वार्ड बनाया गया है। इस वार्ड में सभी जरूरी दवा व उपकरणें की उपलब्धता सुनिश्चित करा दी गयी है।

यह भी पढ़े

सीएम के आह्वान पर समाज में तेजी से बढ़ी है दहेजमुक्त शादी

अक्षरा सिंह ने किसे साफ – साफ कर दिया मना, कहा – ‘ईधर आने का नहीं’

पूर्व सांसद आनंद मोहन के बेटे अंशुमान मोहन कभी भी बॉलीबुड में मार सकते हैं धमाकेदार इंट्री

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया अगर किसी गर्भवती महिला को कोविड 19 संक्रमण के लक्षण हो तो प्रसव के दौरान सभी संलग्न स्वास्थ्य कर्मी भारत सरकार द्वार बताये गये इंफेक्शन प्रीवेंशन एंड कंट्रोल गाइडलाइन में निहित प्रावधान का अनुसरण करना है। इसके लिए गर्भवती माताओं के प्रसव के लिए अस्पताल में विशेष वार्ड बनाया गया है। इन गर्भवती माताओं के प्रसव कार्य में कम से कम चिकित्सा कर्मियों का उपयोग किया जायेगा। साथ हीं आवश्यकतानुसार कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं को रेफर भी किया जायेगा। इस मौके पर हेल्थ मैनेजर राजेश्वर प्रसाद, लेबर रूम इंचार्ज जागृति सिंह, जीएनएम ममता रानी, केयर इंडिया के डीटीओ-एफ रविश्वर कुमार, केयर के डीएमटी गुंजन क्षेत्री, केयर इंडिया के बीएम अमितेश कुमार, लेखापाल बंटी कुमार रजक, सीफार के प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक गणपत आर्यन समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

सुरक्षा के दृष्टि से बनाया गया अलग वार्ड:

कोविड- 19 संक्रमण का प्रसार तेजी से हो रहा है. लेकिन इस दौर में भी प्रसव सेवाएं को निरंतर गुणवत्ता पूर्वक बनाए रखना जरूरी है. कोविड- 19 से ग्रसित गर्भवती महिलाओं का सुरक्षित प्रसव एवं संक्रमित शिशुओं की सुरक्षा के मद्देनजर अलग से कोविड- 19 पॉजिटिव प्रसूताओं के लिए अलग लेबर रूम की जरूरत बढ़ जाती है. इसे ही ध्यान में रखते हुए विशेष वार्ड निर्मित किया गया है.
वार्ड में साफ-सफाई का विशेष ध्यान:

इस वार्ड में साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। आवश्यकतानुसार दिन में तीन से चार बार सफाई की जा रही है। साथ ही पूरे वार्ड को सेनिटाईज भी किया जा रहा है। इस वार्ड में लाइट-पानी टेबल, कुर्सी, बेड, अलमीरा, समेत अन्य जरूरी सेवा उपलब्ध करायी गयी है। इस वार्ड में भर्ती गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखा जायेगा।

मरीज को छोड़कर अटेंडेंट की एंट्री नहीं:

इस वार्ड में कोविड-19 से बचाव को लेकर विशेष सर्तकर्ता बरती जा रही है। वार्ड में आने वाली गर्भवती महिलाओं के साथ किसी भी परिजन को अंदर जाने की इजाजत नहीं दी गयी है। परिजनों के बैठने के लिए बाहर वेंटिंग हॉल बनाया गया है, जहां वे बैठकर इंतजार करेंगे। साथ ही गर्भवती महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के साथ खाने की भी सुविधा मुहैया करायी गयी है।

कोरोनावायरस से खुद को कैसे बचाएं प्रेग्नेंट महिलाएं:

कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिलाओं को कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए। खांसी के दौरान अपने मुंह को ढक कर रखें। टिश्यू ना होने पर खांसी के समय अपने हाथ की बाजू से मुंह ढकें। बीमार लोगों से बिल्कुल भी न मिलें। भीड़ वाली जगहों पर ना जाएं। समय-समय पर हाथ धोते रहें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते रहें। सावधानी रखें लेकिन घबराएं नहीं क्योंकि स्ट्रेस आपके बच्चे के लिए घातक हो सकता है।

डॉ विद्या भूषण श्रीवास्तव/राजीव कुमार/छपरा(सारण)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Farbisganj
siwan
Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More