समस्तीपुर ।लोकसभा उपचुनाव की तैयारियां हुई पूरी, आज ईवीएम में कैद हो जाएगा आठ प्रत्याशियों का भाग्य।

38

 

मुख्य मुक़ाबला डॉ अशोक कुमार एवं प्रिंस राज में, निर्दलियों ने भी वोटरों को लुभाने में नहीं छोड़ी कोई कसर।

निष्पक्ष उपचुनाव कराने को लेकर जिला प्रसासन से लेकर प्रखंड प्रसासन व पुलिस प्रसासन तक ने कसी कमर।

रिपोर्टर:-अर्जुन कुमार झा/खानपुर/समस्तीपुर के दिवंगत सांसद रामचन्द्र पासवान के असामयिक निधन के कारण रिक्त हुई सीट पर उपचुनाव आज कराया जा रहा है।जिसको लेकर जिला प्रशासन से लेकर खानपुर प्रसासन ने दावा किया है की निष्पक्ष उपचुनाव कराने की सारी तैयारियां पूरी हो चुकी है।रविवार देर रात तक चुनाव कार्य से जुड़े पदाधिकारी एवं कर्मी को चुनाव सामग्री लेकर सुरक्षाकर्मियों के साथ बूथों की तरफ कूच करते देखे गये।जिला प्रशासन द्वारा पूरे जिले में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है साथ ही सभी मतदान केंद्रों पर बिहार पुलिस के साथ ही पारा मिलिट्री और रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती की गई है एवं किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए पेट्रोलिंग मैजिस्ट्रेट और क्विक रिस्पोन्स टीम का गठन किया गया है।इस दफा चुनाव आयोग द्वारा पहली दफा मतदाताओं को मोबाइल एप के माध्यम से भी अपना वोट डालने का विकल्प दिया गया है,जिसके लिए प्रत्येक मतदाताओं को क्यू आर कोड लगा एक मतदाता पर्ची दी गई है,जिसे पीठासीन पदाधिकारी अपने मोबाइल एप्प से स्कैन कर वोटिंग की प्रक्रिया को पूरा करेंगे।
दूसरी तरफ उपचुनाव को लेकर उम्मीदवारों की बेचैनी काफी बढ़ गई है।कुल आठ दलीय एवं निर्दलीय प्रत्याशियों की किस्मत आज ईवीएम में बंद हो जाएंगी। मुख्य मुक़ाबला महागठबंधन प्रत्याशी डॉ0 अशोक कुमार एवं राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के प्रत्याशी एवम दिवंगत सांसद रामचन्द्र पासवान के पुत्र प्रिंस राज के बीच देखा जा रहा है। विदित हो की डॉ0 अशोक कुमार इस दफा लगातार तीसरी बार सांसद पद के लिए अपनी दावेदारी प्रस्तुत कर रहे हैं।वर्ष 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम में उन्हे दूसरा स्थान प्राप्त हुआ था,वर्तमान में वे रोसड़ा से विधानसभा सदस्य हैं। दूसरी तरफ प्रिंस राज की राजनीतिक छवि बहुत पुरानी नहीं रही है।वर्ष 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव में वे कल्याणपुर (सु) सीट से चुनाव लड़े थे,लेकिन उन्हें पराजय का मुंह देखना पड़ा था।तब से फिर सक्रिय राजनीति में वे बहुत कम ही नजर आये।इनके अलावे युवा क्रांतिकारी पार्टी से रंजू देवी भी अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित इस लोकसभा सीट पर अपनी दावेदारी के लिए कमर कस चुकी है।निर्दलीय प्रत्याशियों के रूप में सूरज कुमार दास,अनामिका पासवान,शशिभूषण दास,निर्दोष कुमार एवं विद्यानंद राम इस चुनावी समर में मतदाताओं के बीच अपनी उपस्थिति का एहसास करा रही है।वही पूरे चुनाव-प्रचार के दौरान पेशे से वकील अनामिका पासवान का मतदाताओं को लुभाने का अंदाज पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा।एक खास महिला ब्रिगेड की टीम जिसमें 08 महिलाएं शामिल थी,ड्रम के धुन पर पूरे क्षेत्र में जाकर निर्दलीय प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने की अपील की।आम लोगों ने प्रथम दफा,इस तरीके से चुनाव प्रचार को होते देखा है।
आज शाम पाँच बजे तक सभी आठ उम्मीदवारों का किस्मत ईवीएम में कैद हो जायेंगी। परिणाम क्या आयेगा यह 24 अक्टूबर को पता चल जाएगा। लेकिन इस पूरे चुनावी प्रक्रिया में कहीं भी लोगों में चुनावी सरगर्मी देखने को नहीं मिली।चौक-चौराहों पर भी चुनाव से संबन्धित बातें बहुत कम ही सुनने को मिली।ऐसा लगता है कि संसदीय क्षेत्र के मतदाताओ ने अपनी मुँह बंद कर मतदादान करने के मूड में है।न ही उपचुनाव में राष्ट्रीय मुद्दे का शोर था,न ही स्थानीय समस्याएँ हावी हो पायी।हालांकि कई लोगों ने बताया की चूंकि ये उपचुनाव है इसलिए हमलोग इस पर खास ध्यान नहीं दे रहे हैं। लेकिन फिर भी लोकसभा का उपचुनाव आखिर लोकतन्त्र का सबसे बड़ा पर्व तो अवश्य है। इसलिए आज के दिन सभी कार्य छोड़ कर सबसे पहले मतदान करें।छोड़ के अपने सारे काम- पहले चलो करें मतदान।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Farbisganj
siwan
Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More