हेलीकॉप्टर की आवाज सुनते ही मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा पालीगंज

अपने लोगन के प्रणाम करैत ही .. से प्रधानमंत्री ने की मगही भाषा में अपने भाषण की शुरुआतचाक-चौबंद सुरक्षा के बीच हुआ पीएम की चुनावी सभा,एनडीए के झंडों से पटा रहा इलाका,पानी के लिये तरसते रहे लोग

0 132
Above Post 640X165 Desktop
Above Post 320X100 Mobile

किशोर चौहान,बिहटा, (पटना)।लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण की मतदान को लेकर अंतिम चुनावी सभा को संबोधित करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्र के कृषि मैदान पालीगंज पहूंचे।उनको सुुुबह 10 बजकर 20 मिनट पर यहां पहुचने का कार्यक्रम था।लोग सुबह 8-9 बजे से ही सभा स्थल पर जुटने लगे थे।पूरा इलाका बीजेपी, जेडीयू और लोजपा के झंडों से पटा रहा।बच्चें और नौजवान मोदी का चेहरे पर मुखौटा,लगाए तथा हाथों भाजपा का कमल छाप वाला झंडा लिए फिर एक बार मोदी सरकार के नारा लगाते सभा स्थल पर पहूंचे। चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच उनका चुनावी सभा सम्पन्न हुआ।उनका भाषण सुनने के लिये पटना साहिब,पाटलिपुत्र,अरवल,जहानाबाद और भोजपुर से भी भारी संख्या में एनडीए समर्थक जूटे रहे।उमड़ी भाड़ी भीड़ से एनडीए के नेता काफी उत्साहित दिखे।भीड़ का भी उत्साह चरम पर था।मोदी के आने के पहले से ही पंडाल का हर कोना मोदी-मोदी के नारों से गुंजायमान था।हर कोने से मोदी-मोदी की आवाजें आ रही थी।

मैदान में बने हैलीपैड पर सुबह के 9.40 में पहला हेलीकॉप्टर लैंड किया। इसके आने से पहले ही मोदी के पक्ष में नारे लगने लगे। लेकिन इसमें दूसरे मंत्री सवार थे। ठीक करीब एक घण्टे बाद आसमान में तीन उड़न खटोले नजर आये।इस वक्त तक भीड़ का उत्साह चरम पर था। इन उड़न खटोलों के लैंड करने के बाद ठीक 11.04 बजे प्रधानमंत्री मंच पर आए एवं आते ही मंच के सबसे अगले हिस्से में आकर हांथ हिलाकर लोगों का अभिवादन करने लगे।प्रधानमंत्री के इस अंदाज ने कार्यकर्ताओं में उत्साह भर दिया।पांच मिनट तक पूरा पंडाल मोदी-मोदी के नारों से गूंजने लगा।उनके मंच पर विराजमान होने के बाद मात्र दो ही वक्ताओं ने भाषण दिया। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान एवं जनता दल यू के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ही यह मौका मिला।

सभा स्थल पर मीडिया गैलरी के बाएं ओर महिलाओं को तथा दाईं ओर अति विशिष्ट लोगों को बैठाया गया।दर्शकों के लिये मंच के ठीक सामने एक बड़ा पंडाल तथा इसके दायें-बाएं एक-एक छोटा पंडाल बनाया गया था।इन तीनों पंडाल के बाहर भी लोग खड़े थे। मंच के सामने बैठी लड़कियां एवं महिलाएं प्रधानमंत्री का मास्क पहन रखी थी। महिलाओं की संख्या भी अच्छी खासी थी।मोदी के मास्क पहने लड़कियां आकर्षण के केन्द्र में रही और मीडिया कर्मियों का ध्यान अपनी ओर खींचती रही। प्रधानमंत्री के भाषणों के दौरान बीच -बीच में मोदी के पक्ष में नारे भी लगाती दिखी।सभा स्थल के चारों ओर की सड़कों पर करीब डेढ़ किलोमीटर दूर से ही अधिकांश वाहनों को पुलिस-प्रशासन के लोगों ने रोक दिया।केवल पास वाले वाहन ही सभा स्थल तक गये।लोग आसमान पर मोदी के हेलीकॉप्टर आने के लिय टकटकी लगाए रहे।उनका तीनों हेलीकाप्टर निर्धारित समय से करीब 30 मिनट लेट कृषि फार्म के हेलीपैड पर उतरा। जिसके बाद पूरा इलाका मोदी-मोदी,भारत माता की जय,वन्दे,मातरम और जय श्री राम के नारों से

Middle Post 640X165 Desktop
Middle Post 320X100 Mobile

रकार के नारे लगा रहे थे।उपस्थित लोगों का अभिवादन करते हुए मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत मगही भाषा से की।उन्होंने कहा कि पालीगंज के ई मैदान में आवेला अपने लोगन के प्रणाम करैत ही।मोदी के इस भाषण की इस शुरुआत ने लोगों को और उत्साहित कर दिया।जिसके बाद युवाओं के नारों की आवाज गगनचुम्बी इमारतों को छूने लगी।इस चुनावी रैली को देखने पहुंचे लोग इसे एतिहासिक बता रहे थे।क्यूंकि इसके पहले कभी ऐसी रैली व भीड़ लोगों ने नही देखी थी।इसे देखकर लोगों का कहना था कि अगर ये भीड़ वोट में तब्दील हो गई तो पाटलिपुत्र से रामकृपाल को जीतने से कोई रोक नही सकता।ये रैली उनके लिए गेमचेंजर साबित होगा।सभा स्थल से दूर-दूर तक बाजार के सड़कों एवं घरों के छतों पर भी लोगों की जमावड़ा लगा रहा।सभा स्थल के चारों तरफ घरों की छतों पर भी सुरक्षा के लिये पुलिस के जवान तैनात रहे।महाठबंधन के स्थानीय नेता और कार्यकर्ता भी लोगो की अगुआई में लगे रहे।

अति विशिष्ठ लोगों की गैलरी में कुर्सी कम रहने के कारण बहुत लोंगो को खड़ा होकर भाषण सुनना पड़ा।इतनी बड़ी सभा और उमड़े जन सैलाब में लोगों को पीने की पानी की कमी देखी गयी।जिसका कारण यह भी हुआ कि सुरक्षा में लगे पुलिस के लोग सभा स्थल पर मोबाइल छोड़कर कुछ भी नहीं जाने दिए।उनके भाषण के दौरान भी लोग मोदी-मोदी और फिर एक बार मोदी सरकार के नारे लगाते रहे।लोग दूर से ही मोबाइल में मोदी की तस्वीर लेने के लिये उतावले रहे।अपने चुनावी भाषण का शुभारंभ करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार शिक्षा और वैभव की धरती है।वे भगवान महावीर, बुद्ध,गुरुगोबिंद सिंह,सम्राट अशोक,चाणक्य व महान गणितज्ञ आर्य भट्ट की इस धरती को नमन करते है।उन्होंने कहा कि उनके लिये जनता जनार्दन ही ईश्वर का रूप है।देश की 130 करोड़ जनता ने मुझे हर पल आशीर्बाद दिया है।इसके लिए मैं सर झुकाकर उनका अभिनदंन करने तथा आशीर्वाद लेने आया हूं।उनके इस वक्तव्य पर लोग मोदी मोदी की जयकारे कर उनका अभिवादन स्वीकार किया। सभा खत्म होने के बाद उमड़ी भीड़ और वाहनों के काफिले को सभा स्थल के निकट से निकलने में करीब एक घंटे अफरातफरी रहा।

प्यास से व्याकुल दिखे लोग-

प्रधानमंत्री की सभा मे सुरक्षा इंतजाम को लेकर पानी की बोतलें भी नहीं ले जाने दिया गया। उमस भरी गर्मी में लोग प्यास से व्याकुल रहे।पंडाल के अंदर भी पीने का पानी का कोई इंतजाम नहीं था।महिलाओं के साथ छोटे – छोटे बच्चे भी साथ आये थे, उन्हें भी पानी के लिए छटपटाते देखा गया।पंडाल के चारो ओर सुरक्षा के लिए भारी संख्या में पुलिस को तैनात किया गया था। बिना सुरक्षा जांच से गुजरे पंडाल में घुसना नामुमकिन था।पूर्व विधायक डेढ़ किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचे मोदी के सभा स्थल पर

जद यू के वरिष्ठ नेता एवं मनेर के पूर्व विधायक विधायक प्रो० सूर्यदेव त्यागी के वाहन को बिहटा-पाली रोड पर पुलिस ने रोक दिया।परिचय देने के बाद भी पुलिस के लोगों ने उनके गाड़ी को आगे नहीं जाने दिया।पुलिस के लोगों का कहना था कि गाड़ी को यहीं पार्क कर पैदल जाना होगा।पूर्व विधायक ने बताया कि उन्हें मजबूरन गाड़ी को वहीं छोड़कर डेढ़ किलोमीटर पैदल चलकर प्रधानमंत्री का भाषण सुनने जाना पड़ा।पुलिस ने मोदी की सभा में आ रहे सैकड़ों वाहनों को रोक कर लोगों को पैदल जाने को कहा।इससे लोगों को भारी फजीहत झेलना पड़ा।अन्य कई गाड़ियों के साथ भी यही किया गया।भारी संख्या में लोगो को पैदल चलकर आना पड़ा।

Below Post 640X165 Desktop
Below Post 300X250 Mobile

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Before Author Box 640X165 Desktop
Before Author Box 300X250 Mobile
Before Author Box 320X250 Mobile
After Related Post 640X165 Desktop
Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More