Bihar News Live
News, Politics, Crime, Read latest news from Bihar

 

हमने पुरानी ख़बरों को archive पे डाल दिया है, पुरानी ख़बरों को पढ़ने के लिए archive.biharnewslive.com पर जाएँ।

अररिया: भरगामा के कई पीडीएस डीलरों के दुकान का कई बार हुआ जांच,मिली गड़बड़ी,फिर भी नहीं हुई कार्रवाई

657

 

 

बिहार न्यूज़ लाईव अररिया डेस्क: वरीय संवाददाता अंकित सिंह। /अररिया। जिले के फारबिसगंज अनुमंडल के भरगामा प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न पंचायतों का पीडीएस डीलरों का मनमानी चरम पर है। ऐसा हम नहीं कहते हैं,ऐसा आमलोगों का कहना है। बताया जाता है,कि कई महीनों पूर्व ग्रामीणों की शिकायत पर एमओ रामकल्याण मंडल द्वारा प्रखंड के सिरसिया कला पंचायत की पीडीएस डीलर सलेहा खातून का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक का जांच किया गया था,तो भारी मात्रा में आनाज का डिफरेंस पाया गया था। बताया जाता है,कि एमओ के द्वारा उक्त डीलरों का दुकान जांच के क्रम में पता चला कि ई-पोस मशीन के अनुसार पहली बार 55 क्विंटल गेहूं तो 20 क्विंटल चावल कम पाया गया था। जबकि दूसरी बार के जांच में भी 37 क्विंटल 70 किलोग्राम गेंहू और 3 क्विंटल 12 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। जबकि तीसरी बार के भी जांच में 37 क्विंटल 45 किलोग्राम गेंहू और 15 क्विंटल 58 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार मानुल्लाहपट्टी पंचायत के पीडीएस डीलर अमरेन्द्र यादव का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 40 क्विंटल 18 किलोग्राम गेहूं और 51 क्विंटल 95 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। ठीक इसी प्रकार मानुल्लाहपट्टी पंचायत के हीं सुशील पासवान पीडीएस डीलर का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 81 क्विंटल 54 किलोग्राम गेहूं और 28 क्विंटल 54 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। ठीक इसी प्रकार शंकरपुर पंचायत के पैक्स के नरेंद्र मिश्र का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो पहली बार के जांच में 6 क्विंटल गेंहू और 22 क्विंटल 32 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। जबकि दूसरी बार के जांच में 302 क्विंटल अधिक गेहूं और 536 क्विंटल चावल कम पाया गया था। जबकि तीसरी बार भरगामा और फारबिसगंज एमओ द्वारा संयुक्त जांच किया गया तो उसमें भी 6 क्विंटल 2 किलोग्राम गेहूं कम और 41 क्विंटल 73 किलोग्राम चावल अधिक पाया गया था।

 

इसी प्रकार नया भरगामा पंचायत के उपेंद्र राम का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 148 क्विंटल 34 किलोग्राम गेहूं और 248 क्विंटल 20 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार कुसमौल पंचायत के धनेश्वर सरदार का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 32 क्विंटल 72 किलोग्राम गेहूं और 41 क्विंटल 94 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार कुसमौल पंचायत के हीं पंचानंद दास का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 16 क्विंटल 8 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। जबकि दूसरी बार के जांच में 21 क्विंटल 76 किलोग्राम चावल अधिक पाया गया था। इसी प्रकार कुसमौल पंचायत के हीं किरण कुमारी का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 10 क्विंटल 73 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार खजुरी पंचायत के मिथिलेश पासवान का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 12 क्विंटल 96 किलोग्राम गेहूं और 139 क्विंटल 30 किलोग्राम चावल कम पाया गया था।

 

इसी प्रकार सिरसिया कला पंचायत के जगन्नाथ यादव का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 3 क्विंटल 90 किलोग्राम गेहूं अधिक और 15 क्विंटल 86 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। जबकि दूसरी बार के जांच में भी 17 क्विंटल 18 किलोग्राम गेहूं कम पाया गया था। इसी प्रकार भरगामा पंचायत के राजेश कुमार पासवान का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 53 क्विंटल 19 किलोग्राम गेहूं और 188 क्विंटल 6 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार नया भरगामा पंचायत के बबीता कुमारी का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 48 क्विंटल 93 किलोग्राम गेहूं और 66 क्विंटल 86 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार हरिपुर कला पंचायत के नीलम कुमारी का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 6 क्विंटल 76 किलोग्राम गेहूं और 20 क्विंटल 93 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार हरिपुर कला पंचायत के हीं सोनम कुमारी का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 7 क्विंटल 50 किलोग्राम चावल कम पाया गया था।

 

इसी प्रकार धनेश्वरी पंचायत के बंदना कुमारी का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 18 क्विंटल 87 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार धनेश्वरी पंचायत के हीं अनमोल कुमार यादव का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 24 क्विंटल चावल कम पाया गया था। इसी प्रकार सिमरबनी पंचायत के बेचन ऋषिदेव का ई-पोस मशीन के स्टॉक व गोदाम के स्टॉक को मिलाया गया तो 5 क्विंटल 27 किलोग्राम गेहूं और 41 क्विंटल 38 किलोग्राम चावल कम पाया गया था। गौरतलब हो कि कुछ दिनों पूर्व स्थानीय लोगों ने इस मामले की मुख्यमंत्री से शिकायत की थी।

 

शिकायत मिलने के बाद इस मामले में मुख्यमंत्री सचिवालय एवं खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग पटना ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इस मामले को अपने पत्रांक 842 में 29 नवम्बर 2023 को अररिया डीएम इनायत खां को जांच कर आवश्यक कार्रवाई करते हुए कृत कार्रवाई की सूचना आवेदक को देते हुए प्रतिवेदन विभाग को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया था। लेकिन इस मामले में अब तक क्या जांच हुई? और क्या कार्रवाई हुई? ना तो आवेदक को पता है। और ना हीं स्थानीय पदाधिकारी को पता है। और ना हीं पीड़ित लाभुकों को पता चल पाया है। शायद यही वजह है,कि पीडीएस डीलरों की मनमानी दिन-प्रतिदिन बढ़ते हीं जा रहा है।

 

फिलहाल आमलोगों कि नजर इस मामले की जांच और कार्रवाई पर टिकी हुई है। बता दें कि इस मामले में अधिक जानकारी के लिए 20 दिसंबर बुधवार को डीएम के फोन नंबर 9473191365 पर कई बार संपर्क किया गया,लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। वहीं इस मामले में डीएसओ संजय कुमार ने बताया कि मामले में जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश फारबिसगंज एसडीएम को दे दिया गया है। वहीं इस मामले में नवपदस्थापित एसडीएम शैलेजा पाण्डेय का कहना है,कि अब इस मामले में बहुत जल्द नये सिरे से जांच कर उचित कार्रवाई की जायेगी।

 

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More